Culture

रमजान में हास्य कलाकार अली और जुबैदा: ‘फूड पैकेट’ वितरण से बने मिसाल

मुस्लिम नाउ ब्यूरो, हैदराबाद

राजा हो या रंक, रमजान में हर कोई अपनी हैसियत के अनुसार एक दूसरे की मदद करने की कोशिश करता है. इस भावना को आगे बढ़ते हुए दक्षिण भारतीय फिल्म जगत के धुरंधर हास्य कलाकार एवं बेहतरीन टीवी प्रेजेंटर मोहम्मद अली और उनकी पत्नी जुबैदा ने मिसाल कायम की है.

मोहम्मद अली की पत्नी सोशल मीडिया और सामाजिक कार्यों में हर दम सक्रिय रहती हैं. इस दंपत्ति ने अपने बांटने के लिए अपने हाथों से फूट पैकेट तैयार किए.

जुबैदा ने इससे संबंधित दो वीडियो सोशल मीडिया पर साझा किए हैं. एक में वह खुद बड़े चाव से मुगलई डेजर्ट ‘शाही टुकड़ा’ बनाती दिख रही हैं, जबकि एक अन्य में मोहम्मद अली और जुबैदा एक डब्बे में अंडा बिरयानी पैकेट तैयार करते नजर आ रहे हैं.

रमजान के इस पवित्र महीने में जरूरतमंदों के बीच भोजन बांटने के लिए मोहम्मद अली और जुबैदा ने एक पूरा ‘फूड किट’ तैयार किया था, जिसमें अंडा बिरयानी और शाही टुकड़ा के अलावा फ्रूटी, टंब्लर ग्लास और कुछ पैसे रखे गए थे.

वीडियो को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि ‘फूड किट’ बड़ी संख्या में बांटे गए थे. किट बड़ी तादाद में तैयार किया गया था. इसके वितरण का काम जुबैदा और उनकी दोस्त आयशा ने किया. टीओआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, फूट पैकेट बांटने के बाद मोहम्मद अली और उनकी पत्नी जुबैदा बेहद खुद नजर आ रहे थे.

बताया गया कि यह दंपति पहले भी लोगों की सहायता करते कई बार दिख चुका है. मोहम्मद अली फिल्मों एवं टीवी में काम करने के बावजूद स्वभाव से बेहद धार्मिक हैं. उन्हांेने अपने घर मंे एक अलग से ‘इबादतगाह’ बना रखा है, जहां वह वीडियो में एक जगह नमाज अदा दिख जाते हैं.

जानिए अली से चर्चित मोहम्मद अली के बारे में

अली का जन्म 10 अक्टूबर 1968 को राजमुंदरी, आंध्र प्रदेश में हुआ.वह एक फिल्म स्टार, हास्य अभिनेता और टीवी व्यक्तित्व हैं जो तेलुगु, तमिल और हिंदी सहित फिल्मों में अपनी भूमिका के लिए प्रसिद्ध हैं.

व्यक्तिगत जीवन:

अली के माता-पिता जैतुन बीबी और मोहम्मद बाशा हैं. उनके भाई खय्यूम भी एक तेलुगु अभिनेता हैं.उनका विवाह जुबेदा सुल्ताना बेगम से हुआ. उनके 3 बच्चे हैं, दो बेटियां और एक बेटा.

आजीविका:

जित-मोहन मित्रा और “म्यूजिकल कंपनी ऑफ राजमुंदरी” के कारण अली ने फिल्म उद्योग में प्रवेश किया. 1979 में, उन्होंने के.राघवेंद्र राव द्वारा निर्देशित फिल्म “निंदु नूरेलु” से एक बाल कलाकार के रूप में अभिनय की शुरुआत की.

जब अली ने जाने-माने निर्देशक “भारती राजा” को आश्चर्यचकित कर दिया, जो अपनी फिल्म “सीताकोका चिलुका” के लिए एक बाल कलाकार की तलाश कर रहे थे, तो उन्हें उनकी अगली फिल्म में भूमिका केवल संयोग से मिली. फिर उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री में खुद को विकसित करने के लिए अपनी शैली को अपनाया. उन्होंने टॉलीवुड इंडस्ट्री में बतौर कॉमिक भी काम किया.

जाने-माने निर्देशक एस. वी. कृष्णा रेड्डी ने उनके लिए कई किरदार बनाए. उन्हें अपनी फिल्मों में एक हास्य अभिनेता के रूप में कई भूमिकाएँ प्रदान कीं. उन्होंने स्क्रीन पर दर्शकों को हंसाने के लिए एक हास्य कलाकार के रूप में अपनी पहचान स्थापित की. अपने फिल्मी सफर के दौरान उन्होंने तमिल, तेलुगु और हिंदी फिल्मों में 1,000 से अधिक फिल्में कीं.

वह एक लोकप्रिय अभिनेता हैं . पुरी जगन्नाध और पवन कल्याण की फिल्मों में उनकी पहली पसंद हैं. वह मनमोहन जादू मालाम के “एंटी-खुजली दवा” अभियान के ब्रांड एंबेसडर हैं.इसके बाद अली माँ टीवी पर “अली टॉकीज़” टॉकी शो के प्रस्तुतकर्ता बन गए. वह ईटीवी पर प्रसारित होने वाले टॉक शो “अली थो सारदागा” के प्रस्तुतकर्ता भी हैं.

ALSO READसंयुक्त अरब अमीरात में ईद: प्रवासियों के लिए क्या खास है?

Ramadan 2024 Islamabad: जेब करें ढीली, लें चार रेस्तरां के इफ्तार और रात के खाने का आनंद

रमाजन 2024: एशियाई मुल्कों में टीवी पर ताला, अरब देशों में धारावाहिकों और फिल्मों की बाढ़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *